प्राणहिता नदी

दक्खिन भारत में एगो नदी, गोदावरी के प्रमुख सहायिका

प्राणहिता नदी दक्खिन भारत के एगो प्रमुख नदी हवे आ गोदावरी नदी के सभसे प्रमुख सहायिका नदी हवे। एह नदी के थाला पूरा गोदावरी नदी थाला के लगभग 34 % हिस्सा कभर करे ला।[4][5] नदी थाला महाराष्ट्रतेलंगाना राज्यन में बिस्तार लिहले बा आ रकबा में ई 109,078 वर्ग किलोमीटर के बाटे। एह तरीका से ई थाला के बिस्तार के मामिला में भारत के सातवीं सभसे बड़ नदी हवे[6]नर्मदाकावेरी नियर प्रमुख नदिन के तुलना में एकर थाला बड़ साबित होखे ला।

प्राणहिता नदी
Wardha river at Pulgaon.jpg
लोकेशन
देस भारत
राज्य महाराष्ट्र, तेलंगाना
जिला गढ़चिरौली जिला, आदिलाबाद जिला
शहर सिरपुर
भौतिक लच्छन सभ
Source वर्धा आ वेनगंगा के संगम
 - location कोटाला,[1] महाराष्ट्र, भारत
 - coordinates 19°35′24″N 79°47′59″E / 19.59000°N 79.79972°E / 19.59000; 79.79972
 - elevation 146 मी (479 फीट)
मुहाना गोदावरी नदी
 - location
कालेश्वरम, तेलंगाना
 - coordinates
18°49′30″N 79°54′36″E / 18.82500°N 79.91000°E / 18.82500; 79.91000निर्देशांक: 18°49′30″N 79°54′36″E / 18.82500°N 79.91000°E / 18.82500; 79.91000
 - elevation
107 मी (351 फीट)
लंबाई 113 किमी (70 मील)
थाला के साइज 109,078 किमी2 (1.17411×1012 वर्ग फु)
थाला लच्छन
सहायिका  
 - left दीना नदी[2]
 - right नागुल्वागु नदी, पेद्दावागु नदी[3]

नदी के सुरुआत वर्धा नदीवेनगंगा नदी के संगम के बाद से होखे ला आ बस 113 किलोमीटर के लंबाई के ई नदी महाराष्ट्र के गढ़चिरौली जिला आ तेलंगाना के आदिलाबाद जिला के सीमा के सहारे बहे के बाद कालेश्वरम में गोदावरी नदी में मिल जाले।

उत्पत्तीसंपादन

पुलगांव में वर्धा नदी
भंडार शहर में वेनगंगा नदी

प्राणहिता नदी के सुरुआत दू गो बड़हन नदी सभ के मिले के बाद होला: वर्धा (थाला रकबा: 46,237 किमी2) आ वैनगंगा (थाला रकबा: 49,677 किमी2)। ई संगम महाराष्ट्र आ तेलंगाना राज्यन के बाडर पर होला। संगम के बाद नदी के चौड़ाई मजिगर बढ़ जाले। प्राणहिता नदी के बहाव में पानी के मात्रा में सीजनल उतार-चढ़ाव बहुत बेसी होखे ला।[7]

बहाव के मारगसंपादन

प्राणहिता नदी के कुल बहाव मारग 113 किलोमीटर के बा, ई महाराष्ट्र के गढ़चिरौली जिला आ तेलंगाना के आदिलाबाद जिला के सीमा के सहारे बहे ले। बहाव के दिसा उत्तर से दक्खिन के बा जइसन कि दक्खिन भारत के बहुत कम नदिन में पावल जाला। एकरा रास्ता में घन जंगल आ घाट पड़ें लें आ ई इलाका बायोडाइवर्सिटी के मामिला में बहुत समृद्ध हवे। एह छोट रास्ता के तय करे के बाद ई नदी कालेश्वरम के लगे गोदावरी नदी में जा मिले ले।

बंधासंपादन

 
कालेश्वरम मंदिर

प्राणहिता नदी पर तेलंगाना में कालेश्वरम के ऊपर वाला इलाका में एगो सिंचनी प्रोजेक्ट खातिर बनल बान्ह बाटे जेकरा के कालेश्वरम लिफ्ट सिंचनी प्रोजेक्ट कहल जाला,[8] ई वर्तमान में दुनियाँ के सभसे बड़हन मल्टी-स्टेज लिफ्ट सिंचनी प्रोजेक्ट (multi-stage lift irrigation project) बाटे।[9]

इस्तेमालसंपादन

नदी के इस्तेमाल सिरोंचाकालेश्वरम के बीचा में जल परिवहन खातिर होखे ला। एकरे अलावा एकर धार्मिक महत्व भी बा आ ई हिंदू परंपरा के "पुष्करम्" सभ वाली 12 गो नदी में सामिल नदी हवे। एह नदी के पुष्करम् मीन राशि के पुष्करम् होला।

इहो देखल जायसंपादन

संदर्भसंपादन

  1. "Villagers near Pranahita project the least informed". Thehindu.com. पहुँचतिथी 20 अगस्त 2017.
  2. "District Gadchiroli - Rivers & Dams". Gadchiroli.gov.in. ओरिजनल से 20 August 2017 के पुरालेखित. पहुँचतिथी 20 August 2017.
  3. "Welcome To Adiabad WebSite". ओरिजनल से 2015-10-22 के पुरालेखित. पहुँचतिथी 2015-10-12.
  4. "Integrated Hydrological Databook (Non-Classified River Basins)" (PDF). Central Water Commission. March 2012. ओरिजनल (PDF) से 4 March 2016 के पुरालेखित. पहुँचतिथी 2015-10-12.
  5. Singh, Dhruv Sen (30 दिसंबर 2017). The Indian Rivers: Scientific and Socio-economic Aspects (English में). Springer. प. 321. ISBN 978-981-10-2984-4. पहुँचतिथी 29 जनवरी 2022.
  6. "Basins". ओरिजनल से 2015-09-23 के पुरालेखित. पहुँचतिथी 2015-10-12.
  7. Understdng Geog Maps Entries (English में). Tata McGraw-Hill Education. ISBN 978-0-07-009099-6.
  8. "Why is Telangana's Kaleshwaram Lift Irrigation Project important?". The Hindu (English में). 2017-07-01. ISSN 0971-751X. पहुँचतिथी 2018-04-20.
  9. "Kaleshwaram project: World's largest multi-stage lift irrigation project inaugurated in Telangana" (English में). पहुँचतिथी 2019-06-22.