"विक्रम संवत" की अवतरण में अंतर

कौनों संपादन सारांश नइखे
(Added some more lines)
टैग कुल: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन
टैग कुल: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन
नया साल के शुरुआत [[बैशाख]] महीना के पहिला दिन से शुरू होखेला जवन कि ग्रेगोरियन कलेंडर के अनुसार [[अप्रिल]]-[[मई]] में पड़ेला। नया साल के पहिला दिन बड़ा हि श्रद्धा भाव आ ऐतिहासिक आनंदोत्सव के साथ मनावल जायेला। नया साल के पहिलका दिन [[भक्तपुर]] में [[बिस्केट यात्रा]] के साथ शुरू होला।
 
मानल जायेला कि विक्रम सम्वत पंचांग के शुरुआत भारतीय दिग्गज राजा [[विक्रमादित्य]] के द्वारा भइल रहल। बहुत लोग के द्वारा मानल जायेला कि विक्रमादित्य एगो ऐतिहासिक चरित्र रहलन या एगो विशुद्ध कल्पित पात्र। <ref name="AA_1989">{{cite book |author=Ashvini Agrawal |title=Rise and Fall of the Imperial Guptas |url=https://books.google.com/books?id=hRjC5IaJ2zcC&pg=PA174 |year=1989 |publisher=Motilal Banarsidass Publ. |isbn=978-81-208-0592-7 |pages=174–175 }}</ref><ref>''The Encyclopædia of India and of Eastern and Southern Asia'' by [[Edward Balfour]], B. Quaritch 1885, p.502.</ref> नेपाल के राणा शासक लोग ई पंचांग के आपन अधिकृत पंचांग बनवले लोग। भारत में [[शक सम्वत]] जवन विक्रम सम्वत के पुनः निर्मित रूप ह के अधिकृत पंचांग बनावल गईल, यद्यपि [[भारत के संविधान के प्रस्तावना]] के हिंदी संस्करण में [[संबिधान]] के अधिग्रहण के तिथि 26 नवंबर 1949 विक्रम सम्वत (मार्गशीष शुक्ल सप्तमी सम्वत 2006) में कहल गइल बा कि विक्रम सम्वत के जगह शक सम्वत के भारत के अधिकृत पंचांग मानल जाई।
[[श्रेणी:विशिस्ट पंचांग]]
[[श्रेणी:हिंदू कलेंडर]]
2,401

संपादन सभ