"नई दिल्ली" की अवतरण में अंतर

छो
→‎संस्कृति: अंग्रेजी से भोजपुरी, replaced: =The Hindu → =दि हिंदू (3) using AWB
छो (अंग्रेजी से भोजपुरी using AWB)
छो (→‎संस्कृति: अंग्रेजी से भोजपुरी, replaced: =The Hindu → =दि हिंदू (3) using AWB)
 
दिल्ली के राजधानी नई दिल्ली से जुड़ाव और भूगोलीय निकटता ने इहां की राष्ट्रीय घटनाओं और अवसरों के महत्त्व को कई गुणा बढ़ा दिया बा। इहां कई राष्ट्रीय त्यौहार जैसे [[गणतंत्र दिवस]], [[स्वतंत्रता दिवस]] और [[गाँधी जयंती]] खूब हर्षोल्लास से मनाए जाते रहे। भारत के स्वतंत्रता दिवस पर इहां के प्रधान मंत्री लाल किले से इहां की जनता को संबोधित करते रहे। बहुत से दिल्लीवासी इस दिन को पतंगें उड़ाकर मनाते रहे। इस दिन पतंगों को स्वतंत्रता के प्रतीक माना जाता बा।<ref name=freedom>{{cite web| work=123independenceday.com|publisher=Compare Infobase Limited| url=http://123independenceday.com/indian/gift_of/freedom/ | title=Independence Day| accessdate=2007-01-04}}</ref> गणतंत्र दिवस की परेड एक वृहत जुलूस होता बा, जिसमें भारत की सैन्य शक्ति और सांस्कृतिक झांकी के प्रदर्शन होता बा। <ref name=repmil>{{cite web|url=http://www.thehindubusinessline.com/2002/01/28/stories/2002012800060800.htm
|title= R-Day parade, an anachronism?|accessdate=2007-01-13|last=Ray Choudhury|first=Ray Choudhury|date=28 January 2002|publisher=Theदि Hinduहिंदू Business Line}}</ref><ref name=repcul>{{cite web
|url=http://www.india-tourism.org/delhi-travel/delhi-fairs-festivals.html
|archiveurl=http://web.archive.org/web/20070319223442/http://www.india-tourism.org/delhi-travel/delhi-fairs-festivals.html
 
इहां के धार्मिक त्यौहारों में [[दीवाली]], [[होली]], [[दशहरा]], [[दुर्गा पूजा]], [[महावीर जयंती]], [[गुरु परब]], [[क्रिसमस]], [[महाशिवरात्रि]], [[ईद उल फितर]], [[बुद्ध जयंती]] [[लोहड़ी]] [[पोंगल]] और [[ओड़म]] जैसे पर्व रहे। <ref name=repcul/> कुतुब फेस्टिवल में संगीतकेरों और नर्तकों के अखिल भारतीय संगम होता बा, जो कुछ रातों को जगमगा देता बा। इ [[कुतुब मीनार]] के पार्श्व में आयोजित होता बा। <ref name=qutubfest>{{cite news
|first = Madhur |last=Tankha |title= It's Sufi and rock at Qutub Fest |url=http://www.hindu.com/2005/12/15/stories/2005121503090200.htm |work=New Delhi |publisher=Theदि Hinduहिंदू |date=15 December 2005 |accessdate=2007-01-13}}</ref> अन्य कई पर्व भी इहां होते रहे: जैसे [[आम महोत्सव]], पतंगबाजी महोत्सव, [[वसंत पंचमी]] जो वार्षिक होते रहे। [[एशिया]] की सबसे बड़ी ऑटो प्रदर्शनी: [[ऑटो एक्स्पो]] <ref name="autogenerated2" /> दिल्ली में द्विवार्षिक आयोजित होती बा। [[प्रगति मैदान]] में वार्षिक [[पुस्तक मेला]] आयोजित होता बा। इ विश्व के दूसरा सबसे बड़ा पुस्तक मेला बा, जिसमें विश्व के २३ राष्ट्र भाग लेते रहे।दिल्ली को उसकी उच्च पढ़ाकू क्षमता के केरण कभी कभी विश्व की पुस्तक राजधानी भी कहा जाता बा।<ref>{{cite web|url=http://www.business-standard.com/india/storypage.php?autono=313090 |title=Sunil Sethi: Why Delhi is India`s Book Capital |publisher=Business-standard.com |author=Sunil Sethi / New Delhi&nbsp;February 09, 2008 |date= |accessdate=2008-11-03}}</ref>
 
[[चित्र:Delhi Auto Show.jpg|thumb|[[ऑटो एक्स्पो]], एशिया के सबसे बड़ा ऑटो प्रदर्शनी अवसर बा। <ref name="autogenerated2">{{cite web|url=http://www.hindu.com/2008/01/09/stories/2008010953071500.htm |title=Theदि Hinduहिंदू : Front Page : Asia’s largest auto carnival begins in Delhi tomorrow |publisher=Thehindu.com |date= |accessdate=2008-11-03}}</ref> , जो कि [[प्रगति मैदान]] में द्विवार्षिक आयोजित होता बा। ]]
 
[[पंजाबी खाना|पंजाबी]] और [[मुगलई खाना|मुगलई]] खान पान जैसे [[कबाब]] और [[बिरयानी]] दिल्ली के कई भागों में प्रसिद्ध रहे।<ref>[http://timesofindia.indiatimes.com/articleshow/2060348.cms Delhi to lead way in street food] Times of India</ref><ref name="India Today Food">[http://conclave.digitaltoday.in/conclave2008/index.php?issueid=32&id=2427&option=com_content&task=view&sectionid=8 Discovering the spice route to Delhi] India Today</ref> दिल्ली की अत्यधिक मिश्रित जनसंख्या के केरण भारत के विभिन्न भागों के [[भारतीय खाना|खानपान]] की झलक मिलती बा, जैसे [[राजस्थानी खाना|राजस्थानी]], [[महाराष्ट्रियन खाना|महाराष्ट्रियन]], [[बंगाली खाना|बंगाली]], [[बादराबादी खाना|बादराबादी]] खाना, और [[दक्षिण भारतीय खाना|दक्षिण भारतीय खाने के आइटम]] जैसे [[इडली]], [[सांभर]], [[दोसा]] इत्यादि बहुतायत में मिल जाते रहे। इ साथ ही स्थानीय खासियत, जैसे [[दिल्ली की चाट|चाट]] इत्यादि भी खूब मिलती बा, जिसे लोग चटकेरे लगा लगा कर खाते रहे। इनके अलावा इहां [[महाद्वीपीय खाना]] जैसे इटैलियन और चाइनीज़ खाना भी बहुतायत में उपलब्ध बा।
35,048

संपादन सभ