"गुप्त साम्राज्य" की अवतरण में अंतर

+ विकिकड़ी
(नया आधार लेख)
 
(+ विकिकड़ी)
|today = {{ubl|{{flag|भारत}}|{{flag|पाकिस्तान}}|{{flag|बांग्लादेश}}|{{flag|नेपाल}}}}
}}
'''गुप्त साम्राज्य''' प्राचीन भारत के एगो साम्राज्य रहल जेकर स्थापना श्री गुप्त द्वारा भइल। [[चंद्रगुप्त I]], [[समुद्रगुप्त]] आ [[चंद्रगुप्त II]] एह साम्राज्य के परसिद्ध शासक रहल लोग। ई साम्राज्य 320 से 550 ईसवी के बीच अपने उत्कर्ष के काल में रहल<ref>{{cite encyclopedia|title=Gupta Dynasty – MSN Encarta |url=http://encarta.msn.com/encyclopedia_761571624/gupta_dynasty.html |work= |archiveurl=https://www.webcitation.org/5kwqOxl5F?url=http://encarta.msn.com/encyclopedia_761571624/gupta_dynasty.html |archivedate=1 नवंबर 2009 |deadurl=yes |df= }}</ref> आ एह समय के भारत के इतिहास के [[सोनहरा जुग]] मानल गइल बा।<ref>N. Jayapalan, ''History of India'', Vol. I, (Atlantic Publishers, 2001), 130.</ref>
 
एह साम्राज्य के दौरान भारत में भवन निर्माण, नक्काशी, चित्रकारी इत्यादि में सभसे महत्व के योगदान भइल।<ref>[https://web.archive.org/web/20081204082030/http://www.wsu.edu:8001/~dee/ANCINDIA/GUPTA.HTM Ancient India. The Age of the Guptas].wsu.edu</ref> साहित्य आ कला के दृष्टि से भा बिज्ञान के क्षेत्र में ई काल प्राचीन भारत के इतिहास में सभसे समृद्ध मानल जाला। एही समय में [[कालिदास]], [[आर्यभट II]], [[वात्स्यायन]], [[वाराहमिहिर]], आ [[विष्णुशर्मा]] नियर बिद्वान भइल लोग। [[महाभारत]] आ [[रामायण]] नियर साहित्यिक ग्रंथ सभ अपना वर्तमान रूप में एही समय में आइल।
61,650

संपादन सभ