"गायकी" की अवतरण में अंतर

+ फोटो
(पन्ना बनावल गइल "'''गायकी''' भा '''गवनई''' में मनुष्य अपना गला के इस्तमाल स..." के साथ)
 
(+ फोटो)
 
[[File:Jagjit Singh (Ghazal Maestro).jpg|thumb|alt= A person singing with Harmonium|160px|right|भुबनेश्वर में 2011 में गायकी के एगो परफार्मेंस दे रहल [[जगजीत सिंह]]]]
'''गायकी''' भा '''गवनई''' में मनुष्य अपना गला के इस्तमाल से संगीत पैदा करे ला। क्रिया के ''गावल'' आ जवन शब्द समूह के गा के उच्चारण कइल जाला ऊ ''गीत'' कहाला। गायकी करे वाला, मने की गावे वाला ब्यक्ति के '''गायक'''/'''गायिका''' कहल जाला।
 
{{clear}}
==संदर्भ==
{{Reflist|33em}}
64,063

संपादन सभ