"माघ" की अवतरण में अंतर

+विकिकड़ी जोड़ल गइल
(फोटो जोड़ल गइल)
(+विकिकड़ी जोड़ल गइल)
; अन्हार पाख
* चउथ - सकट चउथ, जेकरा संकष्टी गणेश चतुर्थी कहल जाला।
* अमौसा - [[मौनी अमौसा।अमौसा]]।
 
;अँजोर पाख
 
;सुरुज के हिसाब से
* [[खिचड़ी (तिहुआर)|खिचड़ी]] चाहे [[मकर संक्रांति]]
* [[लोहड़ी]]
 
एकरे अलावा [[इलाहाबाद]] में माघ के महीना में पूरा महीना भर चले वाला [[माघ मेला|माघ मेला]] लागे ला। प्रयाग के [[त्रिवेणी संगम|त्रिबेनी संगम]] क्षेत्र में पूरा महीना भर लोग रह के गंगा नहान आ पूजा-प्रार्थना करे ला। एकरा के ''कल्पवास'' कहल जाला। माघ मेंला के प्रमुख नहान परब सभ में [[मौनी अमौसा|मौनी अमावस्या]], [[बसंत पंचिमी|बसंत पंचमी]] आ माघी पूर्णिमा होखे लें। हर बारहवाँ बरिस इहे माघ मेला [[कुंभ मेला]] के रूप में मनावल जाला आ तब एकर नहान परब [[शिवराति|शिवरात]] (महाशिवरात्रि, फागुन में पड़े ले) ले हो जालें।
 
==संदर्भ==
70,252

संपादन सभ