ताज महल होटल मुंबई क एगो पाँच सितारा होटल ह जवन की मुम्बई की कोलाबा में गेटवे ऑफ़ इंडिया की लगे आइल बा।[1]

इ ताज होटल रिसोर्ट एवं पैलेस क एगो प्रमुख संपत्ति ह, जवने में 560 कमरा और 44गो सुइट्स बा। एमें 35 बटलर सहित करीब 1500 कर्मचारी लोगन क स्टाफ बा। इतिहासी और सरंचना की महत्व की दृष्टी से देखल जा त ए होटल की तहत आवे वाला दुगो इमारत, ताज महल पैलेस और टावर दुनू अलग अलग इमारत हई स, जवन की अलग-अलग समय पर आ अलग-अलग डिज़ाइन में बनल बाड़ी स।[2]

इतिहाससंपादन

होटल क असल इमारत टाटा बनववले रह न। आ एकर शुरूआत 16 दिसम्बर 1903 के भइल।[3][4] एकर असल भारतीय आर्किटेक्टस सीताराम खंडेराव वैद्य और डी.एन. मिर्जा रहल लो, और ए प्रोजेक्ट क निर्माता एगो अंग्रेज़ इंजीनियर डब्लू. ए. चैम्बर रह न। एकर निर्माता खानसाहेब सोराबजी रतनजी कांट्रेक्टर रह न जवन की एकर मशहूर मध्य में बनल चले वाला सीढ़ी क डिज़ाइन आ निर्माण कइले बा न। ओ समय में एकर निर्माण क कुल लागत £ 250,000 भइल रहे।

प्रथम विश्वयुद्ध की समय इ होटल 600 बिस्तर वाला होस्पीटल में रूपांतरित करा गइल रहे।

ताज महल टावर जवन एकर विस्तार ह, 1973 में खुल ल। एकर डिज़ाइन मेल्टन बेकर बनवले रह न।

2008 क हमलासंपादन

26 नवम्बर 2008 के ए होटल पर आतंकवादी हमला भइल, जवने में ए होटल के गंभीर रूप से नुकसान भइल और कम से कम 167 लोगन क जान गइल।[5] भारतीय सुरक्षा बल और कमांडो की साथ 3 दिन ले चल ल लड़ाई और होटल में घुसल सब आतंकीयन की खात्मा की साथ ए हमला क अंत भइल। ए हमला की बाद कुछ वक्त होटल बंद रहल।

ए होटल आ टावर में जवने हिस्सा में कम नुकसान पहुँचल रहे उ हिस्सा 21 दिसम्बर 2008 के पुनः खोला गइल। ए हमला से होटल में नुकसान पहुँचल एतिहासिक विरासत वाला हिस्सा की पुनः निर्माण में कई महिना क वक्त लागल।[6]

हिलरी क्लिंटन भारत अमरीका क रिश्ता मजबूत कइले की इरादा से जुलाई, 2009 में मुम्बई अईली और ताज होटल में ठहरल रहली, साथे साथ स्मरणोत्सव में भी शामिल भइली।

15 अगस्त 2010 के ताजमहल होटल मरम्मत की बाद पूरी तरह से खुल गइल। ए होटल के भइल नुकसान क मरम्मत कइले में करीब 1।75 बिलियन रुपया क खर्चा भइल। एकर विस्तार टावर क पूरा तरह से नया सुविधा की साथ पुनःशुरुआत भइल।

मिडिया में चर्चासंपादन

  • विलियम वारेन, जिल गोचर (2007), एशिया लीजेंडरी होटल्स: द रोमांस ऑफ़ ट्रेवल।
  • एकर जिक्र भारतीय लेखक सुलतान राशेद मिर्ज़ा क साहब बहादुर नांव की लघु कथाओ में मिलेला।
  • मराठी फिल्म तार्यांचे बेट में इ एगो स्कूली लईका की सपना की जगह की तौर पर देखावल गइल रहे।[7]

होटल ग्रैंड पैलेस ए होटल क एगो अन्य नांव ह। इ नांव ए होटल क हिंदी नांव ताज महल क अनुवाद करे खातिर इस्तेमाल कइल गइल रहे, ख़ास कर के लेखक लोगन द्वारा।

इ होटल बीबीसी की अगस्त 2014 की होटल इंडिया नांव की 4 भाग की डॉक्यूमेंट्री में लऊकल रहे।[8]

संदर्भसंपादन

  1. http://www.business-standard.com/article/beyond-business/the-story-of-taj-111121700080_1.html
  2. "ताज महल होटल की विशेषताएं". क्लियरट्रिप.कॉम. Retrieved 6 September 2016.
  3. http://www.vogue.in/content/10-things-know-about-taj-mahal-palace-hotel
  4. एलन, चार्ल्स (3 December 2008). "ताज महल होटल, के रूप में पहले, विनाश के खतरे से बच जाएगा". द गार्डियन. लन्दन. Retrieved 24 मई 2010.
  5. "समय: हमले के तहत मुंबई". बीबीसी न्यूज़. 1 December 2008. Retrieved 3 December 2008.
  6. पसरीचा, अंजना (21 December 2009). "मुंबई के होटल पर हमला फिर से खोलना". वौइस् ऑफ़ अमेरिका. Retrieved 22 December 2008.
  7. http://www.timeoutmumbai.net/film/dvd-reviews/taryanche-bait
  8. लीडबीटर, क्रिस (26 August 2014). "होटल भारत: मुंबई के ताज महल पैलेस अपने काले दिनों को पीछे छोड़ देता है". द इंडिपेंडेंट. Retrieved 28 August 2014.