बढ़ियाँ लेख
बनारस के घाट

बनारस या वाराणसी भारत की उत्तर प्रदेश में गंगा नदी की तीरे बसल एगो विश्वप्रसिद्ध शहर अउरी हिन्दू धर्म क सबसे महत्वपूर्ण तीरथन में गिनल जाये वाला अस्थान हउवे।

सांस्कृतिक रूप ई बाबा बिसेसरनाथ के नगरी हवे आ एकरा बारे में पुराणन में कहल बा कि ई साक्षात् भगवान शंकर की त्रिशूल पर स्थित बा आ पूरा विश्व में प्रलय भइला पर भी ई नगरी अपनी अस्थान पर अडिग रहेले। शिव के अविमुक्तेश्वर रूप में अस्थान लिहला की कारण ए नगरी के अविमुक्तेश्वर क्षेत्र कहल जाला। बनारस के मोक्ष देवे वाला भी मानल जाला आ एकरा के महाश्मशान भी कहल जाला।

हिंदू धर्म के अलावा, बौद्ध धर्म आ जैन धर्म के माने वालन खातिर भी ए शहर के महत्व बा। इहाँ से करीब दस किलोमीटर दूर सारनाथ नाँव के अस्थान परेला जहाँ भगवान बुद्ध आपन पहिला उपदेश दिहले रहलन।
समाचार में
रामनाथ कोविंद
का आपके मालुम बा?
आम
  • ... कि केल्ट-9बी नाँव के बाहरीग्रह, अबतक ले खोजल गइल ग्रह सभ में सभसे गरम ग्रह बाटे।
  • ... कि 1963 में रिलीज होखे वाली गंगा मइया तोहें पियरी चढ़इबों भोजपुरी में बनल पहिली फिलिम रहल।
  • ... कि आम (फोटो में देखावल) भारत, पाकिस्तानफिलिपींस के राष्ट्रीय फल हवे आ बांग्लादेश के राष्ट्रीय फेड़ हवे?
  • ... कि सुपरमून के स्थिति में, पुर्नवासी के दिन पृथ्वी आ चंद्रमा के बीच के दूरी कम होखे के कारण चंद्रमा १५% तक ले बड़ आ ३०% तक ले ढेर चमकदार लउके ला।
  • ... कि नोहकलिकाई भारत के सबसे ऊँच झरना (सिंगल ड्रॉप, ऊँचाई ३४० मीटर) बाटे, जवन पूर्ब खासी पहाड़ी पर चेरापूंजी के लगे बा।
दुसरी भाषा में पढ़ीं