नमकीन दलदल, नून के दलदल या अंगरेजी मे साल्ट मार्श (salt marsh), जेकरा के ज्वारीय दलदल भी कहल जाला एक प्रकार के इकोसिस्टम होला जे समुंद्र के किनारे वाला इलाका में जमीन के आ नमकीन पानीखारा पानी के बीच वाला हिस्सा होला। ई हिस्सा ज्वार आवे पर पानी के अंदर बूड़ जाला आ जवार उतरले पर उपरा जाला। एह इलाका में ज्यादातर नीमक बर्दाश्त करे वाला पौधा आ घास होखे लीं या छोटहन साइज के झाड़ी होलीं।[1][2] ई बनस्पति समुंदरी ना होले बलुक मूल रूप से जमीनी होले आ एह नमकीन दलदल सभ के निमार्ण खातिर गाद रोके में इन्हन के महत्व वाली भूमिका होले। नमक के दलदल, पानी के भोजन-जाल में महत्व वाला योगदान देला आ जमीनी जानवरन खातिर भी भोजन उपलब्ध करावे लें; समुंद्र के किनारा के मैनेजमेंट आ संरक्षण में ही इनहन के भूमिका महत्वपूर्ण बाटे।[2]

नमकीन दलदल भाटा, औसत लेवल, ज्वार आ बहुत ऊँच ज्वार के समय

संदर्भसंपादन

  1. Adam, P (1990). Saltmarsh Ecology. Cambridge University Press. New York.
  2. 2.0 2.1 Woodroffe, CD (2002). Coasts: form, process and evolution. Cambridge University Press. New York.

बाहरी कड़ीसंपादन