फिदूर दोतोव्सकी (अंग्रेजी:Fyodor Dostoyevsky) (11 नवंबर 1821 - 9 फरवरी 1881) एगो रूसी लेखकउपन्यासकार, कहानी लेखक, पत्रकारदार्शनिक रहलें। उनुकर लिखल कहानी सभ में मानव मनोबिज्ञान के बहुत सफल चित्रण भइल बाटे आ ओ समय के राजनीतिक आ सामाजिक माहौल के भी बढ़ियाँ से देखावल गइल बाटे।

फिदूर दोतोव्सकी
वसीली पेरोव के बनावल दोस्तोवस्की के पोर्ट्रेट, 1872
वसीली पेरोव के बनावल दोस्तोवस्की के पोर्ट्रेट, 1872
जनम फिदूर मिखाइलोविच दोतोव्सकी
(1821-11-11)11 नवंबर 1821
मास्को, रूसी साम्राज्य
निधन 9 फरवरी 1881(1881-02-09) (उमिर 59)
सेंट पीटर्सबर्ग, रूसी साम्राज्य
राष्ट्रियता रूसी
शिक्षा मलेटरी इंजीनियरिंग-टेक्नीकल इन्वार्सिटी, सेंट पीटर्सबर्ग
समय 1846-1881
बिधा उपन्यास, कहानी, journalism
बिसय मनोबिज्ञान, दर्शन, धर्म
साहित्यिक आंदोलन रियलिज्म
प्रमुख रचना नोट्स फ्रॉम अंडरग्राउंड
क्राइम एंड पनिशमेंट
द ब्रदर्स कारामजोव
जीवनसाथी
संतान Sonya (1868)
Lyubov (1869–1926)
Fyodor (1871–1922)
Alexey (1875–1878)
दसखत

ऊ बीस बरिस की उमिर में लिखे सुरू कइ दिहलें आ उनुकर पहिला उपन्यास पुअर फोक 1846 में छपल जब उनुकर उमिर खाली पचीसे बरिस रहे। उनुकर परसिद्ध रचना में क्राइम एंड पनिशमेंट (1866), द इडियट (1869), डीमन्स (1872) आ द ब्रदर्स कारामजोव (1880) बाटे।

दोस्तोवस्की के जनम 1821 में मास्को में भइल रहे। जब उनुकर उमिर पनरह बरिस रहे तबे उनुकर महतारी मरि गइली। लगभग ओकरा बादे ऊ इस्कूली पढ़ाई छोड़ दिहलें आ निकोलायेव मलेटरी इंजीनियरी इंस्टीट्यूट में पढ़े लगलें आ उहाँ से ग्रेजुएशन कइलें।

1849 में उनुके पेत्रशेव्सकी सर्किल की संघे जुड़ाव खातिर गिरफ्तार कइल गइल। उनुका के मौत के सजा भी मिलल बाकी आखिरी समय में जार निकोलस I की आदेस से माफी मिल गइल।

दोस्तोवस्की के बाद में जुआ खेले के आदत लागि गइल रहे आ उनकर माली हालत एतना खराब हो गइल रहे कि उनके कुछ समय बदे भिखमंगई ले करे के परल।

उनुकर काम से बहुत लेखक-साहित्यकार लोग परभावित भइल आ उनकी रचना सभ के दुनिया की लगभग हर बड़हन भाषा में अनुवाद भइल बा।

संदर्भसंपादन

बाहरी कड़ीसंपादन