प्रजाति (अंगरेजी: Race; रेस) पृथ्वी पर मनुष्यन के अलग-अलग ग्रुप में बिभाजित करे के एगो तरीका हवे। एकदम सुरुआत में भाषा, ओकरे बाद राष्ट्रीयता आ सतरहवीं सदी के बाद शरीर के लच्छन के आधार पर पूरा दुनियाँ के मनुष्यन के कई भाग में बाँट के देखल जाला। वर्तमान में, बिद्वान लोग एह किसिम के बिभाजन आ बर्गीकरण के सामाजिक रचना (सोशल कंस्ट्रक्ट) माने ला, मने कि अइसन वर्गीकरण जे कौनों प्रकार से समाजसंस्कृति में एक किसिम के मतलब रखत होखे। भले ई बँटवारा शारीरिक लच्छन के आधार के कुछ हद ले सामिल करत होखे, एकर कौनों मजबूत जीव बैज्ञानिक आधार नइखे।

मनुष्य के प्रजाति सभ में अध्ययन मनुष्य बिज्ञान, मानव भूगोलजनसंख्या भूगोल नियर बिसय सभ में कइल जाला।

संदर्भसंपादन