R[1][1]हिंदी दिवस हर साल 14 सितंबर के मनावल जाला। ई दिन हिंदी के परचार-प्रसार खातिर तरह-तरह के कार्यक्रम करि के मनावल जाला जेह में सरकारी आ गैर-सरकारी दुनों तरह के संस्था, इस्कूल इत्यादि शामिल होलें। प्रमुख कार्यक्रम में साहित्यिक गोष्ठी, सम्मलेन, भाषण आ प्रतियोगिता इत्यादि गिनावल जा सके ला।

इतिहाससंपादन

14 सितंबर 1949 के संबिधान सभा में हिंदी के राजभाषा के रूप में स्वीकार कइल गइल रहल।[1] एही दिन के हिंदी खातिर खास मान के "राष्ट्रभाषा प्रचार समिति, वर्धा" एह दिने हिंदी दिवस मनावे के प्रस्ताव रखलस आ एकरे बाद सन् 1953 से ई दिन हिंदी दिवस के रूप में मनावल जाला।

भारत के संबिधान के अनुच्छेद 343(1) ई लिखल बा कि संघ के राजभाषा (राजकीय काम-काज के भाषा, राष्ट्रभाषा नाहीं) हिंदी आ लिपि देवनागरी होखी आ अंक के रूप अंतर्राष्ट्रीय होखी। चूँकि, ई निर्णय 14 सितंबर के लिहल गइल रहल, हिंदी खातिर एह दिन के खास मानल जाला।

इहो देखल जायसंपादन

संदर्भसंपादन

  1. 1.0 1.1 1.2 "Hindi Divas 2016 why hindi diwas celebrated on 14 september news in Hindi - Patrika News". Patrika.com. पहुँचतिथी 2016-09-14.

बाहरी कड़ीसंपादन