आसाराम

आध्यात्मिक गुरु और सजायाफ्ता बाल बलात्कारी

आसाराम बापू (आसूमल थाऊमल हरपलानी[1] या आसूमल सिरूमलानी,[2] जनम: 17 अप्रैल, 1941, नवाबशाह जिला, सिंध प्रांत) भारत क एगो कथावाचक, आध्यात्मिक गुरु एवं स्वयंभू संत हउवन।[3] आसाराम अपने प्रवचन में सबके भीतर एक सच्चिदानन्द ईश्वर के अस्तित्व क उपदेश दिहेलन। उनके उनकर भक्त अकसर बापू के नाम से बोलावैलन। आसाराम 400 से अधिक छोट-बड़ आश्रमन क मालिक हउवें। उनकर चेलन क संख्या करोड़ों में बा।

आसाराम
जनमआसूमल सिरूमलानी
(1941-04-17) अप्रैल 17, 1941 (उमिर 82)
ग्राम बेराणी, नवाबशाह जिला, सिंध प्रान्त, ब्रितानी भारत
निवासअहमदाबाद, गुजरात, भारत
राष्ट्रीयताभारतीय
Organizationसंत श्री आसारामजी आश्रम
जीवनसाथीलक्ष्मी देवी
संताननारायण साईं (पुत्र)
भारती देवी (पुत्री)
माईबापमहँगीबा (माँ)
थाऊमल सिरूमलानी (पिता)
वेबसाइट[1]

आसाराम हाल में बिबाद में रहल बाड़ें आ अप्रैल 2018 में, इनका के नाबालिग के साथे बलात्कार के एगो मामिला में जोधपुर के बिसेस अदालत द्वारा दोसी करार दिहल गइल।[4]

संदर्भ संपादन

  1. "The Politics of Sex" [सम्भोग की राजनीति]. इण्डिया टुडे (अंग्रेजी में). 30 अगस्त 2013.
  2. प्रीति पंवार (29 अगस्त 2013). "Asaram Bapu's life journey from a tea seller to the spiritual guru" [आसाराम बापू का एक चाय विक्रेता से आध्यात्मिक गुरु तक का सफर] (अंग्रेजी में). Retrieved 1 सितंबर 2013.
  3. "आध्यात्मिक गुरु आसाराम बापू को केआरके ने कहा- `राक्षस`". ज़ी न्यूज़. 22 अगस्त 2013. Retrieved 13 सितंबर 2013.
  4. "आसाराम नाबालिग से बलात्कार मामले में दोषी करार - BBC News हिंदी". Bbc.com. 1970-01-01. Retrieved 2018-04-25.