खगोलिकी

धरती से बाहर अंतरिक्ष में मौजूद चीजन के अध्ययन करे वाला विषय
(खगोल शास्त्र से अनुप्रेषित)

खगोलिकी भा खगोलशास्त्र (अंगरेजी: astronomy) विज्ञान के एगो शाखा हउवे जेह में पृथिवी के बाहर आकाश भा अंतरिक्ष में मौजूद चीजन, जइसे की ग्रह, नक्षत्रआकाश गंगा आदि क पढ़ाई आ रिसर्च होल। प्राचीन काल में एहमें ग्रहन क गति आ आकाश में स्थिति क पूर्वानुमान लगावे का भी अध्ययन होखे आ एकर जुड़ाव ज्योतिषभूगोल दुनों से रहल।

खगोलिकी के बिना-सुलझल सवालसंपादन

हालाँकि, खगोलिकी रुपी ई बैज्ञानिक शाखा बहुत गजब के बिकास कइले बा आ प्रकृति आ ब्रह्मांड के समझ बढ़ावे में मददगार भइल बाटे, अभिन ले बहुत सारा सवाल अइसन बाड़ें जिनाहन के जबाब मिले के बाकी बाटे। एह सवालन के जबाब खाती नया जमीन आ स्पेस आधारित उपकरण आ औजार बनावे आ संभवतः नया किसिम के सिद्धांत आ एक्सपेरिमेंट सभ के जरूरत बाटे। कुछ प्रमुख सवाल बाड़ें:

  • स्टेलर मास स्पेक्ट्रम के उत्पत्ती कइसे होखे ला? मतलब ई की खगोल बैज्ञानिक लोग हमेशा ठीक एकही किसिम के स्टेलर मास सभ के बितरण—सुरुआती मास फंक्शन—काहें देखे ला, जबकि आभासी रूप से सुरुआती दसा कुछऊ रहल होखे?[1] तारा आ ग्रह सभ के निर्माण के बारे में अउरी गहिराई से जानल अभिन ले बाकी बा।
  • का ब्रम्हांड में अउरियो कहीं जीवन बाटे? बिसेस रूप से, अउरियो कहीं बुद्धिमान जीवन बा कि नाहीं? अगर अइसन होखे, फर्मी पैराडॉक्स के का होखी? अउरी दूसर कहीं जिनगी के होखले के बैज्ञानिक आ दार्शनिक परभाव बहुत महत्व के बाड़ें।[2][3] सौर मंडल नार्मल बाटे कि एटिपिकल (atypical)?
  • डार्क मैटर आ डार्क एनर्जी के मूल प्रकृति का बाटे? इहे पूरा ब्रम्हांड (कोसमोस) के इवोल्यूशन आ नियति के भारी रूप से परभावित करे लें, तब्बो अभिन ले इनहन के बारे में बहुत जानकारी ना बाटे।[4]
  • ब्रम्हांड के अंतिम नियति खा होखी?[5]
  • सभसे सुरुआती गैलेक्सी कइसे बनली सऽ?[6] अतना सुपरमैसिव ब्लैक होल सभ कइसे बनलें?[7]
  • अल्ट्रा-हाई-एनर्जी कॉस्मिक किरन सभ कवना कारन से पैदा हो रहल बाड़ीं?[8]
  • स्टैंडर्ड बिग-बैंग मॉडल के प्रेडिक्शन के तुलना में लिथियम के मौजूदगी चार गुना कम काहें बाटे?[9]
  • इवेंट होराइजन के पार का होखे ला?[10]

इहो देखल जायसंपादन

संदर्भसंपादन

  1. Kroupa, Pavel (2002). "The Initial Mass Function of Stars: Evidence for Uniformity in Variable Systems". Science. 295 (5552): 82–91. arXiv:astro-ph/0201098. Bibcode:2002Sci...295...82K. doi:10.1126/science.1067524. PMID 11778039. S2CID 14084249.
  2. "Rare Earth: Complex Life Elsewhere in the Universe?". Astrobiology Magazine. 15 July 2002. ओरिजनल से 28 June 2011 के पुरालेखित. पहुँचतिथी 12 August 2006.
  3. Sagan, Carl. "The Quest for Extraterrestrial Intelligence". Cosmic Search Magazine. पुरालेखित से पुरालेखित 18 August 2006 के. पहुँचतिथी 12 August 2006.
  4. "11 Physics Questions for the New Century". Pacific Northwest National Laboratory. ओरिजनल से 3 February 2006 के पुरालेखित. पहुँचतिथी 12 August 2006.
  5. Hinshaw, Gary (15 December 2005). "What is the Ultimate Fate of the Universe?". NASA WMAP. पुरालेखित से पुरालेखित 29 May 2007 के. पहुँचतिथी 28 May 2007.
  6. "FAQ – How did galaxies form?". NASA. ओरिजनल से 16 December 2015 के पुरालेखित. पहुँचतिथी 28 July 2015.
  7. "Supermassive Black Hole". Swinburne University. पुरालेखित से पुरालेखित 14 August 2020 के. पहुँचतिथी 28 July 2015.
  8. Hillas, A.M. (September 1984). "The Origin of Ultra-High-Energy Cosmic Rays". Annual Review of Astronomy and Astrophysics. 22: 425–44. Bibcode:1984ARA&A..22..425H. doi:10.1146/annurev.aa.22.090184.002233. This poses a challenge to these models, because [...]
  9. Howk, J. Christopher; Lehner, Nicolas; Fields, Brian D.; Mathews, Grant J. (6 September 2012). "Observation of interstellar lithium in the low-metallicity Small Magellanic Cloud". Nature (English में). 489 (7414): 121–23. arXiv:1207.3081. Bibcode:2012Natur.489..121H. doi:10.1038/nature11407. PMID 22955622. S2CID 205230254.
  10. Orwig, Jessica (15 December 2014). "What Happens When You Enter A Black Hole?". Business Insider International. पुरालेखित से पुरालेखित 13 August 2020 के. पहुँचतिथी 17 November 2016.