प्रयाग प्रशस्ति, गुप्त बंस के राजा समुद्रगुप्त के लिखवावल एगो स्तंभलेख हवे जेवन इलाहाबाद के अशोक स्तंभ पर लिखल बाटे। एकर रचयिता समुद्रगुप्त के दरबारी कवी हरिषेण के मानल जाला। इतिहासी नजरिया से ई लेख बहुत महत्व वाला मानल जाला, खासतौर प गुप्त साम्राज्य के इतिहास खाती।

इलाहाबाद के अशोक स्तंभ जेपर ई लेख लिखल बा।
लेख के कुछ हिस्सा।

संदर्भसंपादन