भइया दुइज, भैया दूज, चाहे यम द्वितीया हिंदू लोग द्वारा मनावल जाये वाला एगो तिहुआर हवे जे कातिक के अँजोरिया के दुइज तिथी के मनावल जाला। ई दिपावली के दू दिन बाद पड़े ला। एह दिन बहिन लोग अपना भाई के टीका लगावे ला आ ई भाई-बहिन के तिहुआर हवे। यम आ यमुना के कथा प्रचलित हवे जेकरे कारन ई तिहुआर मनावल जाला आ एही से एकर एक ठो नाँव यम द्वितीया हवे।

इहो देखल जायसंपादन

संदर्भसंपादन