प्राकृतिक संसाधन (अंगरेजी: natural resources) अइसन संसाधन हवें जे बिना मनुष्य के कौनों क्रियाकलाप के, प्रकृति में अपने-आप मौजूद बाने आ जिनहन के इस्तेमाल मनुष्य अपना लाभ खातिर क सकत बा, जिनहन के महत्त्व आ कीमत मनुष्य समझे ला।[1] प्राकृतिक संसाधन सभ में पृथ्वी पर मौजूद बिबिध शक्ति आ गुण आ पदार्थ, जइसे चुंबकता, गुरुत्वाकर्षण, सूर्य के रोशनी, वायुमंडल, जंगल, खनिज इत्यादि के शामिल कइल जा सके ला। हालाँकि, प्रकृति में पावल जाए वाला ई तत्व सभ संसाधन तब्बे बने लें जब आदमी इनहन के कीमत बूझे ला;[1] आ कीमत बूझल एक सांस्कृतिक घटना हवे, देस-काल के हिसाब से ई कीमत अलगा-अलगा हो सके ला।[1]

प्रकृति में ई संसाधन सभ अलगा से, एकाकी इकाई (सेपरेट) के रूप में भी हो सके लें, जइसे कौनों साफ पानी के स्रोत; जबकि कुछ सभ जगह पावल जाए वाला हो सके लें, जइसे सुरुज के रौशनी, हवा इत्यादि।

बर्गीकरणसंपादन

प्राकृतिक संसाधन सभ के कई आधार पर कई प्रकार में बाँटल जाला:

उत्पत्ती के आधार पर:

  • जीवीय संसाधन - जिनहन के उत्पत्ती जीवधारी सभ से होखे।
  • अजीवी संसाधन - जिनहन के उत्पत्ती प्रकृति में कौनों जिंदा जीव के मदद से न होखत होखे।


इहो देखल जायसंपादन

संदर्भसंपादन

  1. 1.0 1.1 1.2 Society, National Geographic. "National Geography Standard 16". nationalgeographic.org (in English). Retrieved 11 दिसंबर 2021.