घाटी धरती के सतह पर खाल लमछर हिस्सा होला[1] जेकरे दुनों किनारे पर पहाड़ी चाहे पहाड़ होखे लें आ बीचा में आमतौर पर नदी के धारा बहे ले। किनारे के ढाल के द्वारा बने वाली आकृति के आधार पर घाटी सभ के यू-आकार आ वी-आकार के घाटी में बाँटल जा सके ला।[2][3] टेक्टानिक हलचल से बनल लमहर निचाई वाला इलाका सभ रिफ्ट घाटी होलें। दू गो किनारा सभ के बीचा में एकदम से गहिरा खड़ा ढाल वाली घाटी गॉर्ज होले आ अइसन खड़ा ढाल वाली घाटी के बिस्तार लंबाई में दूर ले होखे तब पूरा संरचना के कैनियन कहल जालीं।[1] गॉर्ज सभ के आकृति के चलते इनहन के आई-आकार के घाटी भी कहल जाला।[4]

पहाड़ी ढाल के बीचा में घाटी
ई दुनों उपत्यका के उदाहरण हईं

एगो दुसरे अर्थ में घाटी भा उपत्यका[5][6], जइसे कि काठमांडू उपत्यका, पहाड़न से घेराइल निचाई वाला इलाक भा तलहटी के, चाहे पहाड़ के लगे के तराई होला; जबकि ऊँचाई वाला हिस्सा सभ के अधित्यका कहल जाला।[7][8]

इहो देखल जायसंपादन

संदर्भसंपादन

  1. 1.0 1.1 "valley | geology | Britannica". www.britannica.com (in English). Retrieved 14 जनवरी 2021.
  2. "V-shaped valley". Oxford Reference (in English). doi:10.1093/oi/authority.20110803120300597.
  3. "Valleys". nationalgeographic.com (in English). 15 अक्टूबर 2009. Retrieved 14 जनवरी 2021.
  4. Longman Panorama Geography 7 (in English). Pearson Education India. ISBN 978-81-317-1209-2. Retrieved 14 जनवरी 2021.
  5. "उपत्यका". shabdkosh.raftaar.in. Retrieved 24 जनवरी 2018.
  6. Kumar, Arvind; Kumar, Kusum (1 जनवरी 2006). Arvind Sahaj Samantar Kosh (in Hindi). Rajkamal Prakashan. ISBN 978-81-267-1103-1.
  7. Books, Kausiki (24 अक्टूबर 2021). Sankshipta Narada Purana Part 2: संक्षिप्त नारद पुराण: केवल हिन्दी (in Hindi). Kausiki Books.
  8. Avasthī, Sureśa (1981). Chambers English-Hindi Dictionary (in Hindi). Allied Publishers.

बाहरी कड़ीसंपादन

धरती से बाहरीसंपादन