इंटरनेट कम्पयुटरन के एगो विशाल समूह ह, जौन एक दुसरा से जुड़ल बा। इंटरनेट के इस्तेमाल विश्व के कौनो भी कंप्यूटर पर जानकारी के एकदम जल्दी से भेजे आ प्राप्त करे खातिर इस्तेमाल होला। नेटवर्क पर करोड़ो छोट छोट घरेलू, अकादमिक, ब्यापारीक, आ सरकारी नेटवर्क के जाल बा, जौन एक साथ कई प्रकार के जानकारी आ सेवा के खयाल करेला।

बिसयसूची

इतिहाससंपादन

इंटरनेट के इतिहास के सुरुआत पैकेट स्विचिंग की शुरुआत से भइल जौन 1960 की दशक में शुरू भइल रहे। इनहन में सभसे महत्व वाला अर्पानेट (ARPANET) के सुरुआत रहल जेवन एगो रिसर्च की दौरान बनावल नेटवर्क रहे।

अर्पानेट या ए॰आर॰पी॰ए॰ नेट एगो प्रोजेक्ट की रूप में अमेरिका की कुछ विश्वविद्यालयन के नेटवर्क से जोड़े के काम कइलस आ ई प्रोटोकॉल बनावे के सुरुआत कइलस जेवना से कंप्यूटर नेटवर्कन के नेटवर्क बनावल जा सके। अर्पानेट के पहुँच बढ़ल 1981 में जब नेशनल साइंस फाउन्डेशन आपन कंप्यूटर साइंस नेटवर्क बनवलस। एकरी बाद 1982 में इंटरनेट प्रोटोकॉल सूट के मानक रूप बनावल गइल।

इंटरनेट के सर्विससंपादन

इंटरनेट कई तरह के सर्विस या सेवा उपलब्ध करावे ला। इन्हन में मुख्य तीन गो नीचे दिहल जात बाटे:

वर्ल्ड वाइड वेबसंपादन

आम आदमी इंटरनेट आ वेब के एकही समझेला बाकी इन्हन में अंतर बाटे। वेब एगो सभसे ढेर इस्तेमाल मि आवे वाली इंटरनेट सेवा हवे। वेबसाइट देखे खातिर अलग-अलग वेब ब्राउजर बनल बाटें जइसे की माइक्रोसॉफ्ट के इंटरनेट एक्सप्लोरर, गूगल के क्रोम, एपल के सफारी, ऑपेरा, मोजिला फ़ायरफ़ॉक्स नियर ढेर सारा ब्राउजर बाने। इन्हन की मदद से देखे वाला आदमी पन्ना-दर-पन्ना जानकारी देख सकत बाटे जेवन एक दुसरा से हाइपरटेक्स्ट प्रोटोकॉल द्वारा जुड़ल होखे लें।

संचारसंपादन

संचार या कम्यूनिकेशन एगो दुसरा प्रमुख सेवा बाटे जेवन इंटरनेट से मिलेला। ईमेल एगो संचार सेवा हवे।

डेटा साझा कइलसंपादन

इंटरनेट की मदद से ढेर सारा डेटा ट्रांसफर कइल ज सकत बाटे।

इहो देखल जायसंपादन

संदर्भसंपादन

बाहरी कड़ीसंपादन